Rafta Rafta Lyrics – Danish Alfaaz

Rafta Rafta Lyrics is a Latest Hindi Lyrics Song 2021 which is sung by Danish Alfaaz Ft. Muskan Sharma and Lyrics of Rafta Rafta is Also Given by Danish Alfaaz.

Rafta Rafta Lyrics in English – Danish Alfaaz

Rafta Rafta Lyrics
SingerDanish Alfaaz
ComposerDanish Alfaaz
MusicBigg Sandhu
Song WriterDanish Alfaaz

Tere jism se kisi aur ki
Khushbu aane lagi hai
Tere jism se kisi aur ki
Khushbu aane lagi hai
Tu rafta rafta mujhse door
Jaane lagi hai
Tu rafta rafta mujhse door
Jaane lagi hai

Teri ankhein uska naam mujhe
Batlaane lagi hai
Teri ankhe uska naam mujhe
Batlaane lagi hai
Tu rafta rafta mujhse door
Jaane lagi hai
Tu rafta rafta mujhse door
Jaane lagi hai

Aziyat Lyrics – Pratyush Dhiman



Aye kaas ke tu samaj paati to
Reham haan mujhpe kar paati
Ho mubarak khushiyan tumko
Rabba main jaau kidhar
Mera pyar fakat alfaaz hi tha
Yeh kasme tu khati thi kabhi
Ab jaaogi to dete jaana
Tujhe bhulane ka hunar

Haye ab to juthi kasme bhi
Tu khaane lagi hai
Haye ab to juthi kasme bhi
Tu khaane lagi hai
Tu rafta rafta mujhse door
Jaane lagi hai
Tu rafta rafta mujhse door
Jaane lagi hai

Allah di kasam duja mauka
Nahi de paunga tujhko
Tu jaayengi sau vaari soch le
Kya manzur hai tu vi usko
Allah di kasam duja mauka
Nahi de paunga tujhko
Tu jaayengi sau vaari soch le
Kya manzur hai tu vi usko

Tu jaayegi mujhe chhod ke
Feeling aane lagi hai
Tu jaayegi mujhe chhod ke
Feeling aane lagi hai
Tu rafta rafta mujhse door
Jaane lagi hai
Tu rafta rafta mujhse door
Jaane lagi hai

Rafta Rafta Lyrics in Hindi – Danish Alfaaz

तेरे जिस्म से किसी और की
खुशबु आने लगी है
तेरे जिस्म से किसी और की
खुशबु आने लगी है
तू रफ्ता रफ्ता मुझसे दूर
जाने लगी है
तू रफ्ता रफ्ता मुझसे दूर
जाने लगी है

तेरी आंखे उसका नाम मुझे
बतलाने लगी है
तेरी आंखे उसका नाम मुझे
बतलाने लगी है
तू रफ्ता रफ्ता मुझसे दूर
जाने लगी है
तू रफ्ता रफ्ता मुझसे दूर
जाने लगी है

ऐ काश के तू समझ पाती तो
रेहम हाँ मुझपे कर पाती
हो मुबारक खुशियां तुमको
रब्बा मैं जाऊ किधर
मेरा प्यार फकत अलफ़ाज़ ही था
ये कस्मे तू खाती थी कभी
अब जाओगी तो देते जाना
तुझे भुलाने का हुनर

हाय अब तो जूठी कस्मे भी
तू खाने लगी है
हाय अब तो जूठी कस्मे भी
तू खाने लगी है
तू रफ्ता रफ्ता मुझसे दूर
जाने लगी है
तू रफ्ता रफ्ता मुझसे दूर
जाने लगी है

अल्लाह दी कसम दूजा मौका
नहीं दे पाउँगा तुझको
तू जायेंगी सौ वारी सोच ले
क्या मंजूर है तू वी उसको
अल्लाह दी कसम दूजा मौका
नहीं दे पाउँगा तुझको
तू जायेंगी सौ वारी सोच ले
क्या मंजूर है तू वी उसको

तू जायेगी मुझे छोड़ के
फीलिंग आने लगी है
तू जायेगी मुझे छोड़ के
फीलिंग आने लगी है
तू रफ्ता रफ्ता मुझसे दूर
जाने लगी है
तू रफ्ता रफ्ता मुझसे दूर
जाने लगी है

 

Leave a Reply